Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644
You are here
Home > क्राइम > गोली मारकर एक व्यक्ति की हत्या करने के मामले में आरोपीगण को नहीं मिली जमानत

गोली मारकर एक व्यक्ति की हत्या करने के मामले में आरोपीगण को नहीं मिली जमानत

मुरैना। गोली मारकर एक व्यक्ति की हत्या करने के मामले में आरोपी शैलेन्द्र, भूपेंद्र व विनीत की जमानत याचिका जेएमएफसी अम्बाह न्यायालय ने सुनवाई के बाद अपराध की गंभीरता को देखते हुये निरस्त कर दी। शासन की ओर से अदालत में एडीपीओ गिरजेश खत्री ने पक्ष रखा।।

मीडिया सेल प्रभारी (अभियोजन) डॉ. रश्मि वैभव शर्मा ने घटना के बारे में बताया कि, फरियादिया सीमा तोमर पत्नी सतेन्द्र सिह तोमर ने अस्पताल अम्बाह मे उपस्थित होकर जुवानी रिपोर्ट की, कि मेरी जमीन से होकर गाँव के शैलू, छोटू, जगना सिह व पप्पू रोड़ निकाल रहे हैं जिसके बारे मे मेरे पति सतेन्द्र सिह तोमर ने मना किया तो मेरे खेतों पर लगी तार पट्टी को उक्त लोगों ने उखाड़ दिया जिसके बारे मे दिनांक 29/08/20 के सुबह सात बजे उक्त लोगों से कहा तो इसी बात पर गाँव का पप्पू तोमर 12 बोर बन्दूक लेकर, भूपेन्द्र तोमर 315 बोर की बन्दूक लेकर, छोटू तोमर 315 बोर की बन्दूक, शैलू तोमर 315 बोर कट्टा लेकर, जगना सिह अपने भाई की 315 बोर बन्दूक लेकर, बबलू सिंह राजकुमार की 315 बोर की बन्दूक लेकर, विनीत तोमर 12 बोर का कट्टा लेकर, नेहला पण्डित उर्फ धर्मवीर 315 बोर की बन्दूक लेकर, नहला पण्डित का भानेज 315 बोर की बन्दूक, गंगा सिह तोमर 315 बोर की बन्दूक लेकर, सौरभ 315 बोर का कट्टा लेकर आ गये और मेरे पति सतेन्द्र से गंदी-गंदी गालियां देते हुये बोले कि, तू रोड़ नही निकलने देगा। उसके बाद उक्त सभी ने अपनी बन्दूक एवं कट्टों से मेरे पति सतेन्द्र सिंह को जान से मारने की नियत से गोलियाँ मारी जो मेरे पति के दाहिने हाथ की बांह मे तथा पेट के ऊपर लगी चोट होकर खून निकलने लगा, सोई मै चिल्लाई और अपने पति को बचाने के लिये उन्हे उठाया। मौके पर मेरा भतीजा भत्ते तोमर एवं गाँव के करुआ पण्डित बचाने के लिये आये तो उक्त लोगों ने उन्हे भी जान से मारने के लिये गोलियाँ मारी जो भत्ते तोमर के गले मे एवं शरीर मे अन्य जगह एवं करुआ पण्डित के पैरों मे लगी चोट होकर खून निकलने लगा व मेरे पति को गोली लगने से मौके पर ही मृत्यु हो गई जिसकी सूचना 100 नंबर पर थाने पर भेजी। बाद मेरे पति सतेन्द्र सिह व घायल भत्ते को प्रायवेट गाड़ी से अस्पताल अम्बाह लेकर आये व करुआ पण्डित को प्रायवेट गाड़ी से इलाज हेतु गाँव के लोग मुरैना लेकर गये। फरियादिया की उक्त रिपोर्ट पर से आरोपीगण के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध किया गया।

Leave a Reply

Top