Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

5- 6 दिनों से निष्कासन के बाद अभी तक किसी नये सफाई कर्मी की तैनाती भी नहीं हुए

अम्बेडकर नगर


देश में आयी वैश्विक महामारी कोरोनावायरस को लेकर देश के प्रधानमंत्री या प्रदेश के मुख्यमंत्री या फिर डब्ल्यूएचओ कितनी भी गंभीरता क्यों ना दिखा ले और नित नये-नये गाइडलाइन जारी करते हुए दिशा-निर्देश जारी करें लेकिन यही लाक डाउन सरकारी मशीनरी के लिए अवसर बन गया है।

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छता अभियान का कितना भी ढीढोरा पीटते रहे और मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने की चाहत रखते हों लेकिन प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री का सपना जनपद अंबेडकर नगर के बसखारी ब्लॉक में धराशाई होता नजर आ रहा है बसखारी ब्लॉक में तैनात एक अडियल और मनबढ सेक्रेटरी जोकि बसखारी ब्लॉक में वर्तमान समय में प्रभार के रूप में एडीओ पंचायत का भी पूरा कार्यभार संभाल रहा है और यही उसके लिए मलाई काटने का अड्डा बन गया जिसकी मनमानी और बदमाशी खुलकर आई सामने है।

बसखारी ब्लाक में अंतर्गत ग्राम सभा बेला परसा में तैनात एक सफाई कर्मी जो अपने दायित्वों का निर्वाह पूरी जिम्मेदारी से करता रहा ग्राम सभा में भी उसकी काफी अच्छी छवि है लेकिन आगामी चुनाव को देखते हुए इस दबंग एडीओ पंचायत ने कुछ राजनीतिक लोगों के प्रलोभन में आकर सफाई कर्मी को निष्कासित कर दिया और अब नए नए फार्मूले अपना रहा हैअकारण किसी को निष्कासित कर देना अर्थात उसके पेट पर लात मारना और उसका घर संसार उजाड़ देने जैसा होता है क्योंकि वही उस परिवार का सर्वत्र होता हैऔर दूसरी तरफ बीते लगभग 5- 6 दिनों से निष्कासन के बाद अभी तक किसी नये सफाई कर्मी की तैनाती भी नहीं हुई ग्राम सभा में गंदगी का अंबार है लोग घुटन भरी जिंदगी जीने को मजबूर हैं।


ऐसे ही भ्रष्टाचारी दबंग अधिकारियों के बलबूते प्रधानमंत्री स्वच्छता अभियान चला रहे हैं और मुख्यमंत्री उत्तम प्रदेश बना रहे हैं। जब इस संदर्भ में वीडियो सविता सिंह से बात की गई तो उन्होंने कहा ठीक है देखता हूं और यह कार्य एडीओ साहब देखते हैं वहीं जब एडीओ पंचायत से बात की गई तो उन्होंने कहा अभी बताते हैं। यही है बसखारी ब्लॉक के कर्मचारी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार एडीओ पंचायत की दबंगई सर चढ़कर बोल रही है जिससे उसका खामियाजा उस सफाई कर्मी को भुगतना पड़ा। बिना गलती के एडीओ पंचायत ने उसका करवाया था ट्रांसफर और ना ही कोई कर्मचारी बेला परसा ग्राम सभा में नियुक्त किया गया। जिससे उसका खामियाजा ग्राम सभा बेला परसा को भुगतना पड़ रहा है।

विकाश कुमार निषाद जलालपुर अम्बेडकर नगर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *