Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644


आखिर क्यों सरपंच सचिव के सामने बौनी नजर आ रही पंचायत विभाग
●भ्रष्टाचार की भूमिका में अहम किरदार किसका ?
●जिले से नजदीक पंचायत ही क्यों है पिछड़ा, क्या विभाग के नक्शे से गोल है सेमरी दुबे पंचायत


सतना: जिले के अधिकांश ग्राम पंचायत में देखा जा रहा है, सरपंचों और सचिवों के द्वारा अंधाधुंध धांधली की जा रही है, एक कहावत है सैया भये कोतवाल तो डर काहे का। बस यही रवैया अपनाकर सभी ग्राम पंचायत के सरपंच और सचिव बचे समय मे दोनों हाथों से सरकारी पैसों का भारी मात्रा में ठिकाने लगा रहे है। खासकर यही धारणा बना रखें हैं कि बचे समय मे काम के नाम से पैसा निकाल लें।

अभी प्रकाश में आया सेमरी दुबे का मामला जहाँ पर सरपंच महिमा बाई एवं सचिव स्वर्ण प्रताप सिंह द्वारा दोनों हाथों से डंके की चोट में घी खा रहे हैं। ग्रामीण जनों का आरोप है कि पंचायत के सरपंच सचिव द्वारा भेदभाव किया जा है, एक तरफ सेमरी दुबे में चकाचक काम किया जा रहा है वहीँ सेमरी कुर्मिहाई में रद्दी रोड निर्माण करके भारी भरकम सरकारी धन में पलीता लगाया गया, रोड़ महज एक साल में उखाड़ के गड्ढो में पानी भरने लग गए है, वही दूसरी तरफ प्राथमिक शाला निर्माण के नाम पर लाखो रुपयों को जनपद व जिला के अधिकारियों के मिली भगत से हजम कर लिया गया।प्राथमिक शाला अपने अधूरे बने बिल्डिंग और बिना चौखट दरवाजा एवं बिना छपाई के खड़ी अपनी आप बीती स्वयं बया कर रही है।

सचिव से पूंछने पर अपने आप को पत्रकार बता रहे है, जिसका पुख्ता साक्ष्य भी है, लगता है सचिव की नौकरी को दरकिनार कर सचिव स्वर्ण प्रताप सिंह पत्रकारिता के माध्यम से समाजसेवा करने का विचार बना रखे है, एवं सचिव का कार्य शायद उनके लिए मनोरंजन मात्र रह गया है, औरतो और सेमरी दुबे गांव में सेमरी कुर्मियान नई बस्ती जाने के लिए लगभग 1 किलो मीटर ग्राम वासियो को पैदल सफर करना पड़ता है, यदि बहुत ही साहस करके कोई 2 पहिया वाहन से आने का साहस भी करे तो ये भरोसा नही की वह सही सलामत पार हो जाये, कई घटनाएं देखने मे आई है।

इतना ही नही सूत्र बतलाते है कि इस ग्राम पंचायत में हितग्राहियों के शौचालय का भी पैसा सरपंच सचिव के गुणा गणित लगाकर हजम कर लिया गया है, जहाँ देश के प्रधानमंत्री स्वच्छ भारत और पक्का मकान के लिए गरीबो को आश्वासन दे रहे है, वही इन ठेकेदारों द्वारा ग्रामीणजन के सपनो को तारतार करने में कोई कसर नही छोड़ रहे है, लगता है इनकी मनोधारणा यही है, की सरकारी पैसों की लूट है, जीभर के लूट,कार्यकाल खत्म हो जाएंगे, तो मौका जाएगा छूट।

ग्राम वासियो का कहना है कि इनके द्वारा कई बार जनपद और जिला पंचायत सतना में लिखित शिकायत की गई लेकिन कोई भी कार्यवाही नही हुई। ऐसा भी नही की इस भ्रष्टाचार से जनपद पंचायत के सीईओ और जिला पंचायत सीईओ अनभिज्ञ है, लेकिन मामला दबाने का काम इनके द्वारा किया गया,तथा जिलाध्यक्ष को भ्रामक जानकारी देकर मामला शांत कर दिया जाता है, विचारणीय विषय यह है कि, जनपद सीईओ तथा जिला पंचायत सीईओ का इन सरपंच एवं सचिव पर क्षत्रछाया बनाने का कारण क्या है, क्यों नही हो रही कार्यवाही ? साथ ही इस बड़े भ्रष्टाचार पर किसका है मुख्य भूमिका साथ ही देखना यह भी है अब सतना कलेक्टर क्या कार्यवाही करेंगे, मिलेगी सजा या लुटेगी पंचायत।

सतना से राहुल कुमार नामदेव की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *