Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

अंबेडकरनगर : सड़क सुरक्षा के शोर में चहुंओर यातायात नियम और कानून तोड़ने की मनमानी नजर आती है। नाबालिग के वाहन चलाने पर अभिभावकों को जेल भेजने और 25 हजार रुपये जुर्माना लगाने का कानून है। कठोर दंड लगाने का यह नियम मूकदर्शक बना हुआ है। परिवहन विभाग एवं पुलिस के जिम्मेदार इस मनमानी को देखने के बाद भी आंख मूंदे हैं।

जिला मुख्यालय की सड़क पर ही सरकारी तंत्र यह मनमानी रोकने में नाकाम है। ऐसे में देहात के इलाकों में मनमानी रोकने का दावा खोखला साबित होता है। उधर, खामोशी के बीच सड़क सुरक्षा का सप्ताह गुजर रहा है। गुरुवार को अकबरपुर शहर की सड़क पर ई-रिक्शा चालकों की मनमानी दिखी। एक रिक्शा चालक ने पीछे की सीटों पर क्षमता से ज्यादा सवारियों को बैठाया था। इससे मन नहीं भरा तो चालक सीट पर भी सवरियां बैठा ली। अब चालक को खुद बैठने के लिए स्थान नहीं बचा। हादसों से खेलते हुए चालक सड़क पर वाहन दौड़ाता और सड़क सुरक्षा सप्ताह का मखौल उड़ता रहा। दूसरी तस्वीर इससे भी खतरनाक दिखी। इसमें एक बालक ई-रिक्शा चालक अकबरपुर से टांडा मार्ग पर डीएम और एसपी दफ्तर के सामने भीड़ के बीच से गुजरा। जबकि परिवहन विभाग के कानून में नाबालिग के वाहन चलाते मिलने पर अभिभावक के खिलाफ 25 हजार रुपये का जुर्माना लगाने और तीन साल जेल की सजा का प्रावधान है। इसका पालन कराने वाले भी सड़क पर नदारद रहे। स्कूटी पर बगैर हेलमेट के सवार तीन युवतियों को कानून की फिक्र नहीं।

मोटर ट्रेनिग स्कूलों की हुई जांच : सड़क सुरक्षा सप्ताह में मोटर ट्रेनिग स्कूलों तथा प्रदूषण जांच केंद्रों का एआरटीओ अखिलेश द्विवेदी ने आरआई विपिन कुमार के साथ निरीक्षण किया। ग्रामीण क्षेत्रों में यात्री कर एवं माल कर अधिकारी विवेक सिंह ने प्रदूषण संबंधी जांच की।

विकाश कुमार निषाद जलालपुर अम्बेडकर नगर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *